"दो क़दम और सही" : राहत इंदौरी की नुमाइंदा शायरी का ज़रूरी गुलदस्ता

Books Review India | Hindi Literature Review | पुस्तक समीक्षा ..

डॉ. राहत इंदौरी की नुमाइंदा शायरी के एक संकलन की ज़रूरत बहुत दिनों से अनुभव की जा रही थी। राहत की तीन उर्दू पुस्तकें और पांच हिंदी पुस्तकें प्रकाशित हैं। उन्होंने गीत, ग़ज़ल, नज़्में सब लिखी हैं। बॉलीवुड फ़िल्मों के लिए सुपरहिट नग़मे भी लिखे हैं

2017-09-09 02:44:00  

पुस्तक समीक्षा: कवि कलम की चाह लेकर ‘सरहदें’...

Books Review India | Hindi Literature Review | पुस्तक समीक्षा ..

मूल्यों के अवमूल्यन, नैतिकता के क्षरण तथा संबंधों के हनन को दिनोदिन सशक्त करती तथाकथित आधुनिक जीवनशैली विसंगतियों और विडंबनाओं के पिंजरे में आदमी को दम तोड़ने के लिए विवश कर रही है।

2017-08-21 07:49:00  

पुस्तक समीक्षा: कवि कलम की चाह लेकर ‘सरहदें’...

Books Review India | Hindi Literature Review | पुस्तक समीक्षा ..

मूल्यों के अवमूल्यन, नैतिकता के क्षरण तथा संबंधों के हनन को दिनोदिन सशक्त करती तथाकथित आधुनिक जीवनशैली विसंगतियों और विडंबनाओं के पिंजरे में आदमी को दम तोड़ने के लिए विवश कर रही है।

2017-08-21 07:49:00  

पुस्तक समीक्षा: कवि कलम की चाह लेकर ‘सरहदें’...

Books Review India | Hindi Literature Review | पुस्तक समीक्षा ..

मूल्यों के अवमूल्यन, नैतिकता के क्षरण तथा संबंधों के हनन को दिनोदिन सशक्त करती तथाकथित आधुनिक जीवनशैली विसंगतियों और विडंबनाओं के पिंजरे में आदमी को दम तोड़ने के लिए विवश कर रही है।

2017-08-21 07:49:00  

पुस्तक समीक्षा: कवि कलम की चाह लेकर ‘सरहदें’...

Books Review India | Hindi Literature Review | पुस्तक समीक्षा ..

मूल्यों के अवमूल्यन, नैतिकता के क्षरण तथा संबंधों के हनन को दिनोदिन सशक्त करती तथाकथित आधुनिक जीवनशैली विसंगतियों और विडंबनाओं के पिंजरे में आदमी को दम तोड़ने के लिए विवश कर रही है।

2017-08-21 07:49:00  

中国古代文学 Global world news developer online documents developer online toolset Global E-commerce Global world images